छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना:ऑनलाइन आवेदन लाभ और पात्रता करे आवेदन sarkari yojna chhattisgarh godhan nyay yojana

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना:ऑनलाइन आवेदन लाभ और पात्रता करे आवेदन sarkari yojna chhattisgarh godhan nyay yojana

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
sarkari yojna chhattisgarh godhan nyay yojana
sarkari yojna chhattisgarh godhan nyay yojana

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana (छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना) जैसा कि मैं आपको बता दूं कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 20 जुलाई 2020 को जितने भी किसान और पशुपालक है उन सभी को लाभ देने के लिए इस योजना के तहत राज्य सरकार के द्वारा गाय पालने वाले पशुपालक किसानों से गाय का गोबर खरीदा जाएगा और इससे सभी किसानों को उनकी आय में वृद्धि हो सकती है और उनको काफी ज्यादा फायदा होगा इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार के द्वारा गाय पालने वाले सभी पशुपालक किसानों को गाय का गोबर खरीदा जाएगा और इस योजना के अंतर्गत पशुपालक से खरीदे गए जितने भी गोबर होगा उन सभी का उपयोग सरकारी वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए करेगी|

Table of Contents

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana

इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सरकार गायों के लिए भी कार्य कर रही है तो  आज हम आपको अपने आर्टिकल के अंतर्गत बताते हैं कि छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से जुड़ी सारी जानकारी आपको हम अपने इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं जिससे आप भी अगर पशुपालक किसान हैं तो आप इस योजना के अंतर्गत पूरी जानकारी लेकर आप अपने गाय का गोबर भी सरकार के अंतर्गत बेच सकते हैं जिससे सरकार उस खाद से कंपोस्ट खाद बनाएगी। इस योजना के जरिए छत्तीसगढ़ सरकार गायों के लिए भी कार्य कर रही है तो चलिए आज हम आपको अपने हिसाब टिकल में बता रहे हैं कि आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करेंगे और छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना क्या है इसकी सारी जानकारी आपको हम अपने इस आर्टिकल में बताते हैं इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है महत्वपूर्ण दस्तावेज क्या लगेंगे इसके लिए पात्रता क्या है यह सभी जानकारी आपको हम अपने हिसाब से काले में दे रहे हैं तो आप कृपया कर हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें जिससे आप भी छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का लाभ उठा सकें।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana Apply

छत्तीसगढ़ के सरकार ने इस योजना के अंतर्गत 21 जुलाई को पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत की और इस योजना का लाभ सीधे छत्तीसगढ़ राज्य के जितने भी पशुपालक हैं उन सभी को दिया जाएगा राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत लाभ उठाना चाहते हैं वह सबसे पहले Chhattisgarh Godhan nyay Yojana के अंतर्गत आवेदन अगर करना होगा आवेदन करने से पहले आपको इस योजना की पात्रता दिशा निर्देश सभी को ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा तब आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं इस योजना को तो चरण में चलाया जाएगा जिसमें पहले चरण में राज्य के लगभग 2240 गौशालाओं में जोर आ जाएगा फिर कुछ ही दिनों में 28 संगठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा गाय का गोबर कई तरह से काम करता है इसके माध्यम से आप अच्छा इंधन भी तैयार होता है इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा गाए का गोबर ₹2 किलो की दर से खरीदा जाएगा।

6 अक्टूबर 2023 को गोधन न्याय योजना के तहत जारी किए गए 8 करोड़ 13 लाख रुपए

जैसा कि आप सभी को बता दूं कि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल जी के द्वारा इस योजना के अंतर्गत 6 अक्टूबर को मुख्यमंत्री निवास कार्यालय से आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के द्वारा पशुपालकों को सभी को ग्रामीणों के द्वारा घोटालों से जुड़ी महिला समूह और गौठान समितियों को आठ करोड़ 13 लाख रुपए की राशि जारी कर के भुगतान किया गया है यह राशि ऑनलाइन माध्यम से लाभार्थी के बैंक में खाते में दे दिया जाएगा और इस भुगतान में 16 सितंबर से 30 सितंबर तक गठान में पशुपालक ग्रामीण किसानों भूमिहीनों सेट किए गए 2.67 क्विंटल गोबर के एवरेज में 5.34 किया गया ग्राम समितियों को एक और महिला समूह को एक करोड़ की राशि शामिल की गई है।

अब इस योजना के अंतर्गत सभी लाभार्थियों को 342 करोड़ 41 लाख रुपया का भुगतान किया जा चुका है इसमें ₹180000000 की बिजनेस राशि शामिल है अब 6 अक्टूबर को 8.13 करोर कि भुगतान के बाद यह आगरा 350 करोड़ 54 लाख रुपया की पहुंच गया है राज्य सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना 2023 के अंतर्गत अब तक 10664 गांव में घोटालों के निर्माण की स्वीकृति दी जा चुकी है इनमें 8408 गोदान बन चुके हैं और 1758 गठान अभी बन रहे हैं

Chhattisgarh Godhan Nyay 2023 के अंतर्गत 307 करोड़ ₹93000 का किया जा चुका है भुगतान

4 अगस्त सन 2023 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा अपने निवास कार्यालय में आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम के अंतर्गत इस योजना के तहत ग्रामीण पशुपालकों को थानों से जुड़ी सभी महिलाएं समूह और गठान समितियों को 100 करोड़ पचास लाख रुपए की धनराशि ऑनलाइन जारी की जाएगी इस धनराशि 16 जुलाई से 31 जुलाई तक राज्य के सभी घोटालों में पशुपालकों ग्रामीणों किसानों भूमिहीनों से खरीदे गए गोबर के एवरेज में 2.07 करोर रुपए की और महिला समूह की 1.37 करोर रुपए का लाभ राशि सम्मिलित किया गया अब तक godhan nyay Yojana 2023 के अंतर्गत सरकार के द्वारा सभी लाभार्थियों को 4 अगस्त को 6.50 करो रुपए का भुगतान करने के बाद यह करा 307 करोड़ 93 लाख रुपया हो चुका है।

इसके अलावा महिला समूह गोबर के खाद बनाने के अलावा गोवा कास्ट अगरबत्ती एवं मूर्तियों इत्यादि का निर्माण करके उन्हें बेचकर अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर रही है और साथ ही राज्य में सब्जी एवं मशरूम का उत्पादन मुर्गी बकरी मछली पालन एवं पशुपालन के साथ-साथ अन्य मुल्कों जैसी गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है जिससे के माध्यम से सभी महिलाओं को समूह को 70 करोड़ 34 लाख रुपए की आय प्राप्त हो चुकी है।

राज्य गौठानों से 13969 स्व सहायता समूह से जुड़े

अभी हाल में ही राज्य के घठनों से 13969 महिला स्व सहायता समूह से सीधे जुड़ चुकी है इस समूह के सभी सदस्यों की संख्या 86874 है अब घोठालों को रूलर इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है छत्तीसगढ़ में अब तक 10624 गांव में गोदामों का निर्माण की स्वीकृति दी चुकी है जिसमें से 8408 को घठनो बनकर तैयार हो चुके हैं 1758 गठानों का निर्माण कार्य चल रहा है इसके अलावा स्वावलंबी पठानों से स्वयं से राशि से 17 करोड़ 1500000 रुपए के गोबर की खरीदारी कर चुकी है राज्य के गोधन नया योजना के अंतर्गत लगभग 252000 से अधिक ग्रामीण पशुपालन किसान और 140000 से अधिक भूमिहीन परिवार लाभ उठा चुके हैं गोबर बेचकर अतिरिक्त आय प्राप्त करने वाले 45.98% संख्या महिलाओं की है।

गोधन न्याय योजना में शामिल महिलाओं और कंपनियों को बोनस मिलेगा

योजना की दूसरी वर्षगांठ पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने 7 करोड़ 48 लाख रुपया का ऑनलाइन भुगतान किया जिन्होंने विधानसभा में यह खबर देने के अलावा यह भी कहा है कि महिला और सरकारी समितियों से संबंधित स्वयं सहायता समूह के वर्मी कंपोस्ट की बिक्री के लिए इनाम दिया जाएगा इन सहकारी संस्था को ₹10 और महिलाओं को ₹2 की प्रोत्साहन मिलेगी वर्मी कंपोस्ट के लिए 0.1 किलोग्राम साथ ही 7 जुलाई 2023 तक बिकने वाली कंपोस्ट पर महिला संगठनों को ₹100000 का बोनस मिलेगा 7 करोड़ जबकि सहकारी समितियों को 0.01 करोड़ इस योजना में अब तक गठान समितियों और महिला स्वयं सहायता समूह को कुल 147.99 करोड़ रुपए की राशि दी गई है।

गोधन न्याय योजना के माध्यम से दिए गए 6.5 करोड़ रूपए

Chhattisgarh godhan nyay Yojana के अंतर्गत सरकार के द्वारा 14 साल 5 किलो रुपए की राशि वितरित की गई है इस बात की जानकारी छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 21 अप्रैल 2023 को दी गई है या राशि गठान कमेटी के कैटल रियरिंग कमेटी महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप में दिया जाएगा सरकार के द्वारा इस योजना के संचालन के लिए मिशन मोड में किया जा रहा है जिससे कि सभी गठान का विकास किया जा सके और इस राशि से गोबर की खरीद के लिए ₹2.95 की राशि खर्च की चुकी है। यह राशि 29 मार्च 2023 से 15 अप्रैल 2023 के बीच खर्च की गई इसके अलावा 2.43 करो रुपए की राशि गठान की मीठी और 1.50 करोड़ों की राशि वह मेन सेल्फ हेल्प ग्रुप को दी गई है।

मोबाइल ऐप का किया गया शुभारंभ

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को सरकार के द्वारा पशुपालक और जैविक खेती को बढ़ावा देने के उद्देश्य आरंभ किया गया था और इस योजना के अंतर्गत सभी पशुपालकों और किसानों को ₹2 प्रति किलो की दर से उनकी गोबर की खरीददारी की जाएगी और सूरज गांव की योजना के अंतर्गत स्थापित दुकानों में महिला सहायता समूह के द्वारा इस गोबर की जैविक खाद में निर्माण किया जाता है गाय के गोबर से कंपोस्ट वर्मी कंपोस्ट और सुपर कंपोस्ट के अलावा कई तरह के खाद बनाई जाती है वथानों की गतिविधियों को सुचारू संचालन के लिए छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा गोवर्धन न्याय मिशन की स्थापना की गई इस मिशन के अंतर्गत लाभार्थियों को धन हस्तांतरित करने में सहायता की जाएगी हाल ही में छत्तीसगढ़ के द्वारा किया गया इसके अंतर्गत गतिविधियों के बारे में जानकारी दी गई महिला स्वयं सहायता समूह गतिविधियों और गतिविधियों की शामिल किया गया इसके अलावा के द्वारा किया गया है इसके अलावा इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी के द्वारा गौठान समितियों के पशुपालकों लाभार्थियों को 3.93 करोर रुपया का ट्रांसफर भी किए गए हैं।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana 2023 Highlights

🔥योजना का नाम 🔥छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना
🔥इनके द्वारा  शुरू की गयी 🔥मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
🔥लॉन्च की तारीक 🔥20 जुलाई 2020
🔥लाभार्थी 🔥गाय पालने वाले पशुपालक
🔥उद्देश्य 🔥पशुपालको की आय में वृद्धि करना

गोबर से किया जाएगा बिजली का उत्पादन

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना के अंतर्गत खरीदे गाय गोबर से बनाया जाएगा बिजली और बिजली का कार्य किया जाएगा इस कार्य की करने के लिए पूरी व्यवस्था कर ली गई है और जल्दी इस कार्य का आरंभ कर दिया जाएगा इस बात की जानकारी खुद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 22 सितंबर को पत्रकारों की साझा की गई है छत्तीसगढ़ में अब ग्रीन एनर्जी का उत्पादन भी किया जाएगा जिससे कि पर्यावरण को भी लाभ मिलेगा और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को भी इस योजना के अंतर्गत लाभ दिया जाएगा इसके अलावा इस फैसले से किसान युवा और सभी उद्योगों को भी लाभ पहुंचेगा गोबर से बिजली बनाने ग्लोबल वार्मिंग को देखते हुए लिया गया पिछले 1 साल में इस योजना के अंतर्गत 50 लाख क्विंटल गोबर की खरीदारी की गई है।

इस गोबर का उपयोग बिजली बनाने में किया जाएगा सरकार के इस फैसले से रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे और इस योजना से बीते हुए वर्ष आरंभ किया गया था अब तक इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा एक सौ करोड़ रुपए से अधिक की गोबर की खरीदारी की चुकी है गोबर का इस्तेमाल वार्मिंग कंपोस्ट बनाने के लिए भी किया जाता है जिससे कि किसानों को लाभ पहुंचे और जैविक खेती को बढ़ावा मिले इसके अलावा घोटालों में वार्मिंग कंपोस्ट बनाने के लिए काम सन लग्न तथा अन्य आर्थिक गतिविधियों में काम कर रहे 9 हजार से अधिक स्व सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार प्राप्त हुआ।

छत्तीसगढ़ को धान न्याय योजना का उद्देश्य

जैसा कि आप सभी को बता दूं कि पशुपालकों की आई कुछ ज्यादा नहीं होती जिसकी वजह से वह अपने पशुओं को अच्छी चारा नहीं दे पाते और कुछ लोग अक्सर पशुओं को दूध निकाल उन्हें खुला छोड़ देते हैं जिसके कारण गांवों तथा शहरों में गोबर यूं ही पड़ा रहता जिससे गंदगी भी फैलती है इसे सभी समस्याओं को देखते हुए राज्य सरकार के द्वारा इस छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को शुरू किया गया और गोधनिया योजना के अंतर्गत सरकार गाय पालने वाले सभी किसानों की गाय का गोबर खरीदेगी जिससे कि सभी पशुपालकों की आय में काफी आधा वृद्धि होगी और गाय का गोबर भी व्यर्थ नहीं जाएगा इस योजना से पशुपालकों की आगे बहुत ज्यादा बिजी होगी और पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जाएगा जिससे पशुओं को इधर-उधर चढ़ने की भी जरूरत नहीं होगी।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana जारी की गई 11वीं और 12वीं किस्त की राशि

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के द्वारा अपने निवास कार्यालय में एक समारोह आयोजित किया गया था इस समारोह में उन्होंने सभी छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के लाभार्थियों को संबोधित किया उन्होंने इस अवसर पर 11वीं और 12वीं किस्त की राशि सभी लाभार्थियों के बैंक के अकाउंट में ट्रांसफर की 16 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच खरीदे गए गोबर विक्रेताओं को 11 वीं किस्त के 4:10 मिनट का 1 करोड रुपए पहुंचा है 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच खरीदे गए गोबर की 12वीं की राशि 302 करोड़ लाभार्थियों के खाते में पहुंचा माध्यम से ट्रांसफर किए गए अब तक छत्तीसगढ़ गोधन नया योजना के अंतर्गत 71 करोड 72 लाख रुपए का भुगतान कर दिया गया मुख्यमंत्री जी के द्वारा यह भी बताया गया कि सेना के सभी लाभार्थियों को 57 हजार से अधिक भूमिहीन जितने भी किसान हैं उन सभी को गोबर बेचना इन सभी भूमिहीन किसानों के लिए एक साधन बना दिया जिससे कि सरकार का किसानों की आय में वृद्धि करने का उद्देश्य भी प्राप्त हो रहा है अब तक छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत 586000 क्विंटल गोबर खरीद की जा चुकी है आने वाले समय में सरकार के द्वारा या खरीद जारी रखेगी

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana नई अपडेट

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को इस योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थियों को उनके गोबर की खरीद का भुगतान की प्रक्रिया का उद्घाटन कर दिया है । इस योजना के अंतर्गत कुल 65,694 पंजीकृत लाभार्थियों में से 46,764 से लगभग 82,711 क्विंटल गोबर की खरीद की जा चुकी है। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत कुल देय राशि 1,65,00,000 रुपये है इसकी पहली किस्त सहकारी बैंक के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के सीधे बैंक अकाउंट में राज्य सरकार द्वारा ट्रांसफर किये जायेगे।

Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh के लाभ

  • इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालको /किसानो को प्रदान किया जायेगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत पशुपालक किसानो से उनके दूधिया पशु के गोबर को खरीदने का कार्य किया जायेगा।
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालको से ख़रीदे जाने वाला गाय का गोबर का इस्तेमाल वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में किया जायेगा।
  • सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के जरिेए किसानों और पशु पालन करने वाले लोगों की आय में तो वृद्धि होगी।
  • राज्य में किसानो और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य तथ्य
  • इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में भविष्य में चलाया जायेगा।
  • Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh को दो चरण में चलाया जाएगा, जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा, फिर कुछ ही दिनों में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
  • सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिये 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत करेगी।

CG Godhan Nyay Yojana के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
  • बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पशुओ से सम्बंधित जानकारी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana में आवेदन कैसे करें?

राज्य के जो भी इच्छुक पशुपालक थे उन सभी लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा उनको नीचे दिए गए तरीकों को फॉलो करना होगा।

  • इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले उनको गूगल प्ले स्टोर को ओपन करना होगा गूगल प्ले स्टोर को ओपन करने के बाद आपको सर्च किया ऑप्शन पर जाकर छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना लिखना होगा और फिर सर्च के ऑप्शन पर जाकर क्लिक करना होगा।
  • छठ के अवसर पर क्लिक करने के बाद आपके सामने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन नया योजना को डाउनलोड करने के लिए इंस्टॉल के ऑप्शन पर जाकर क्लिक करना होगा
  • एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद आपको इस ऐप को ओपन करना होगा।
    CG Godhan Nyay Yojana
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के  ऑप्शन पर जाकर क्लिक करना होगा इसके बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म फुल कर आ जाएगा।
  • फिर आपको आवेदन फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरना होगा सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के अवसर पर जाकर क्लिक करना होगा।
  • Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana – FAQs

     ✔️ Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana क्या है ?

    छत्तीसगढ़ के सरकार ने इस योजना के अंतर्गत 21 जुलाई को पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत की और इस योजना का लाभ सीधे छत्तीसगढ़ राज्य के जितने भी पशुपालक हैं उन सभी को दिया जाएगा राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत लाभ उठाना चाहते हैं वह सबसे पहले Chhattisgarh Godhan nyay Yojana के अंतर्गत आवेदन अगर करना होगा आवेदन करने से पहले आपको इस योजना की पात्रता दिशा निर्देश सभी को ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा तब आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं इस योजना को तो चरण में चलाया जाएगा जिसमें पहले चरण में राज्य के लगभग 2240 गौशालाओं में जोर आ जाएगा फिर कुछ ही दिनों में 28 संगठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा गाय का गोबर कई तरह से काम करता है इसके माध्यम से आप अच्छा इंधन भी तैयार होता है इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा गाए का गोबर ₹2 किलो की दर से खरीदा जाएगा।

    ✔️ कब जारी करेगा गोधन न्याय योजना के तहत जारी किए गए 8 करोड़ 13 लाख रुपए ?

    जैसा कि आप सभी को बता दूं कि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल जी के द्वारा इस योजना के अंतर्गत 6 अक्टूबर को मुख्यमंत्री निवास कार्यालय से आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के द्वारा पशुपालकों को सभी को ग्रामीणों के द्वारा घोटालों से जुड़ी महिला समूह और गौठान समितियों को आठ करोड़ 13 लाख रुपए की राशि जारी कर के भुगतान किया गया है यह राशि ऑनलाइन माध्यम से लाभार्थी के बैंक में खाते में दे दिया जाएगा और इस भुगतान में 16 सितंबर से 30 सितंबर तक गठान में पशुपालक ग्रामीण किसानों भूमिहीनों सेट किए गए 2.67 क्विंटल गोबर के एवरेज में 5.34 किया गया ग्राम समितियों को एक और महिला समूह को एक करोड़ की राशि शामिल की गई है। अब इस योजना के अंतर्गत सभी लाभार्थियों को 342 करोड़ 41 लाख रुपया का भुगतान किया जा चुका है इसमें ₹180000000 की बिजनेस राशि शामिल है अब 6 अक्टूबर को 8.13 करोर कि भुगतान के बाद यह आगरा 350 करोड़ 54 लाख रुपया की पहुंच गया है राज्य सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना 2022 के अंतर्गत अब तक 10664 गांव में घोटालों के निर्माण की स्वीकृति दी जा चुकी है इनमें 8408 गोदान बन चुके हैं और 1758 गठान अभी बन रहे हैं

    ✔️ छत्तीसगढ़ को धान न्याय योजना का उद्देश्य क्या है ?

    जैसा कि आप सभी को बता दूं कि पशुपालकों की आई कुछ ज्यादा नहीं होती जिसकी वजह से वह अपने पशुओं को अच्छी चारा नहीं दे पाते और कुछ लोग अक्सर पशुओं को दूध निकाल उन्हें खुला छोड़ देते हैं जिसके कारण गांवों तथा शहरों में गोबर यूं ही पड़ा रहता जिससे गंदगी भी फैलती है इसे सभी समस्याओं को देखते हुए राज्य सरकार के द्वारा इस छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को शुरू किया गया और गोधनिया योजना के अंतर्गत सरकार गाय पालने वाले सभी किसानों की गाय का गोबर खरीदेगी जिससे कि सभी पशुपालकों की आय में काफी आधा वृद्धि होगी और गाय का गोबर भी व्यर्थ नहीं जाएगा इस योजना से पशुपालकों की आगे बहुत ज्यादा बिजी होगी और पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जाएगा जिससे पशुओं को इधर-उधर चढ़ने की भी जरूरत नहीं होगी।

    ✔️ CG Godhan Nyay Yojana के दस्तावेज़ (पात्रता ) कौन लगेगा ?

    आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
    इस योजना के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
    बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
    आधार कार्ड
    निवास प्रमाण पत्र
    मोबाइल नंबर
    पशुओ से सम्बंधित जानकारी
    पासपोर्ट साइज फोटो

    ✔️ Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh के लाभ क्या है ?

    इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालको /किसानो को प्रदान किया जायेगा।
    छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत पशुपालक किसानो से उनके दूधिया पशु के गोबर को खरीदने का कार्य किया जायेगा।
    छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालको से ख़रीदे जाने वाला गाय का गोबर का इस्तेमाल वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में किया जायेगा।
    सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के जरिेए किसानों और पशु पालन करने वाले लोगों की आय में तो वृद्धि होगी।
    राज्य में किसानो और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
    गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य तथ्य
    इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में भविष्य में चलाया जायेगा।
    Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh को दो चरण में चलाया जाएगा, जिसमें पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा, फिर कुछ ही दिनों में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
    सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिये 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा।
    इस योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत करेगी।

    ✔️ Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana नई अपडेट क्या आया है ?

    छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को इस योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थियों को उनके गोबर की खरीद का भुगतान की प्रक्रिया का उद्घाटन कर दिया है । इस योजना के अंतर्गत कुल 65,694 पंजीकृत लाभार्थियों में से 46,764 से लगभग 82,711 क्विंटल गोबर की खरीद की जा चुकी है। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत कुल देय राशि 1,65,00,000 रुपये है इसकी पहली किस्त सहकारी बैंक के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के सीधे बैंक अकाउंट में राज्य सरकार द्वारा ट्रांसफर किये जायेगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment

x